छठ घाट पर न पुलिस बल की तैनाती थी और ना ही गोताखोर थे, कलबलिया घाट पर डूबने से युवक की चली गई जान

छठ घाटों पर डूबने से 6 लोगों की मौत हो गई है। डूबने से 4 मौत भागलपुर में तो 2 मौतें बेगूसराय में हुई हैं। भागलपुर के रंगड़ा थाना क्षेत्र के रंगड़ा गांव स्थित कलबलिया घाट पर छठ की खुशी के बीच पूरे गांव में उस समय मातम छा गया, जब गांव के ही मुन्ना मंडल के 18 वर्षीय पुत्र मोहन मंडल की डूबने से मौत हो गई।

शनिवार को छठ का अर्घ्य देकर सभी घर चले गए। अर्घ्य देने के बाद मोहन अपने साथियों के साथ वहीं स्नान करने लगा। नहाने के क्रम में वह गहरे पानी में समा गया, जिससे वह डूबने लगा। उसकी चींख-पुकार सुनकर आसपास के लोग उसे बचाने के लिए दौड़े, लेकिन तब तक वह डूब गया। स्थानीय लोगों ने काफी मशक्कत के बाद लाश को पानी से बाहर निकाला। इसके बाद घटना की सूचना पर इलाके की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची।

पुलिस प्रशासन को ठहरा रहे हैं दोषी
घटना के सम्बंध में ग्रामीणों का कहना है कि जिला प्रशासन की लापरवाही से मौत हुई है। जिला प्रशासन लगातार घाट पर व्यवस्थाओं को लेकर तारीफों के पुल बांधती रही, लेकिन हकीकत में ऐसा कुछ नहीं था। यहां तक कि जिला प्रशासन की तरफ से घाट पर न पुलिस बल तैनात थे और न ही एक भी गोताखोर। ग्रामीणों ने 3 घंटे की मशक्कत के बाद खुद लाश को पानी से बाहर निकाला।

बिहपुर थाना क्षेत्र में तीन दोस्तों की डूबने से मौत

भागलपुर के बिहपुर थाना क्षेत्र में 3 दोस्तों की डूबने से मौत हो गई है। लाश की बरामदगी अब तक नहीं हुई है। लापता लोगों में साहेबगंज दिलदारपुर निवासी कमलेश्वरी मंडल का पुत्र भवेश कुमार, प्रवीण कुमार और सोमेश कुमार शामिल हैं। ग्रामीणों ने बताया कि दोपहर में 8 मित्र गंगा स्नान करने गए थे। नहाने के क्रम में सोमेश डूबने लगा, जिसको बचाने की कोशिश में उसके दो अन्य मित्र भवेश और प्रवीण भी डूबने लगे और तीनों पानी के बहाव में बह गए। घटना की सूचना सम्बंधित थाने को दी गई है, लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि दो घंटे बीत जाने के बाद भी प्रशासन की तरफ से न तो गोताखोर की व्यवस्था की गई है और न ही एसडीआरएफ की टीम ही घटनास्थल पर पहुंची है। फिलहाल ग्रामीणों के द्वारा लापता युवकों की खोजबीन की जा रही है।

बेगूसराय में छठ घाट पर दो युवकों की डूबने से मौत

वहीं बेगूसराय में छठ घाट पर दो अलग-अलग घटनाओं में दो युवकों की डूबने से मौत हुई है। घटना मंसूरचक और डंडारी थाना क्षेत्र की है। छठ में घाटों पर डूब कर मरने की घटनाएं हर साल घटती हैं। इसके प्रशासन की ओर से घाटों पर मुकम्मल इंतजाम नहीं हो पाता है। इससे लोगों में आक्रोश है।

Lovely Kumari

Leave a Comment

Recent Posts

छह करोड़ रूपये की लागत की वैकल्पिक निपटारा भवन का शिलान्यास

शेखपुरा...एडीआर यहां वैकल्पिक विवाद निपटारा भवन की आधारशिला रखी गयी। पटना उच्च न्यायालय के न्यायाधीश सह शेखपुरा के निरिक्षी न्यायाधीश…

4 hours ago

छापामारी में सात सौ लीटर अर्धनिर्मित शराब नष्ट

शेखोपुरसराय/ घाट कुसुंभा...एसपी दयाशंकर के निर्देशों के आलोक में सोमवार को शेखोपुरसराय एवम घाट कुसुंभा प्रखंड क्षेत्र में पुलिस ने…

5 hours ago

परिवार नियोजन पखवाड़ा को लेकर जनप्रतिनिधियों के द्वारा विशेष वार्ड सभा का आयोजन

बरबीघा...परिवार नियोजन पखवाड़ा 23 नवंबर से 6 दिसंबर तक मनाया जाने वाला पखवाड़ा को लेकर सेंटर फॉर कैटालाइजिंग चेंज नया…

5 hours ago

बरबीघा..अलग – अलग स्थानों से शराब सहित दो धराया

बरबीघा..स्थानीय थाना पुलिस ने अलग अलग स्थानों पर छापामारी कर दो कारोबारियों को 17 लीटर देशी शराब के साथ गिरफ्तार…

7 hours ago

शेखपुरा…उम्मीदवार बनाए जाने पर मोदी को बधाई

शेखपुरा...भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व बिहार सरकार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी से मिलकर उन्हें राज्यसभा उम्मीदवार…

7 hours ago

शेखपुरा…आर डी कॉलेज के पूर्व प्रधान लिपिक का कोरोना से मौत

कॉलेज कर्मियों ने आयोजित किया शोक सभा शेखपुरा... मंगलवार को स्थानीय आर डी कॉलेज शेखपुरा के सेवानिवृत्त प्रधान लिपिक योगेन्द्र…

7 hours ago

This website uses cookies.