शेखपुरा न्यूज़

शेखपुरा के डीएम को महिला कर्मचारी ने लगा दी फटकार, गेट पर गार्ड ने रोककर पूछा-कहां से आए हैं

शेखपुरा के डीएम को अस्पताल के गेट पर तैनात गार्ड ने रोका. जब वह अस्पताल की दूसरी मंजिल पर पहुंचा तो नर्स ने महिला वार्ड में घुसने की बात कहते हुए उसे डांटा. बाद में जब लोगों ने जिलाधिकारी सावन कुमार को पहचाना तो दंग रह गए। शेखपुरा : शेखपुरा के जिलाधिकारी सावन कुमार अपने पदभार संभालने के बाद से ही सुर्खियों में हैं. लगातार कहीं न कहीं औचक निरीक्षण के लिए पहुंच जाता है।

डीएम को महिला कर्मचारी ने लगा दी फटकार

सोमवार की रात उनका सरकारी अस्पताल में आना चर्चा में आया। सिविल ड्रेस में बरबीघा अस्पताल पहुंचे जिलाधिकारी. अस्पताल के गेट पर तैनात गार्ड उसे पहचान नहीं पाया। उन्होंने डीएम को वहीं रोक लिया। इस बीच जब सावन कुमार अस्पताल की दूसरी मंजिल पर डॉक्टर से मिलने पहुंचे तो नर्स ने महिला वार्ड में घुसने की बात करते हुए उन्हें डांटा. हालांकि सावन जिस डॉक्टर से मिलने आया था, वह आराम कर रहा था।

दरअसल, सोमवार रात करीब साढ़े नौ बजे जिलाधिकारी सावन कुमार सिविल ड्रेस में औचक निरीक्षण करने बरबीघा अस्पताल पहुंचे. गार्ड डीएम सावन कुमार को पहचान नहीं पाया और उन्हें अस्पताल के गेट पर रोक दिया। गार्ड ने जिलाधिकारी से पूछा कि कहां आ गए हो ? सावन कुमार ने कहा कि अस्पताल है, इलाज कराने आया हूं। फिर डीएम ने गार्ड से पूछा कि क्या ये डॉक्टर है ? इस पर गार्ड ने कहा, हां। गार्ड डॉक्टर को बुलाने गया। इस बीच जिलाधिकारी डॉक्टर से मिलने अस्पताल की पहली मंजिल पर पहुंच गए.

जब वे डिलीवरी वार्ड में घुसने लगे तो नर्स पूनम कुमारी ने उन्हें रोक लिया। नर्स ने जिलाधिकारी को फटकार लगाते हुए कहा कि पुरुषों को इस कमरे में प्रवेश करने से रोक दिया गया है। घटना के बीच किसी ने डीएम को पहचान लिया। सूचना मिलते ही सभी के होश उड़ गए। इसके बाद सावन कुमार अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर पर आ गए। डीएम के औचक निरीक्षण की सूचना मिलते ही अपने कमरे में आराम कर रहे डॉ. रवि रंजन पहुंचे. डॉक्टर ने कहा कि वह इमरजेंसी ड्यूटी पर हैं। मरीज अभी वहां नहीं था, इसलिए वह आराम कर रहा था। डीएम ने अस्पताल का रजिस्टर व रोस्टर आदि भी देखा। फिर अस्पताल से निकल गए।

Facebook Comments Box
Leave a Comment