क्रिकेट

India -Australia 4th T-20: जेनरेटर की लाइट में खेला गया भारत-ऑस्ट्रेलिया T20 मैच, रायपुर स्टेडियम में बिजली संकट

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुक्रवार को चौथा t20 मैच खेला गया। यह मैच छत्तीसगढ़ के नवा रायपुर स्थित शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेलागया है। यह वही स्टेडियम है जिस पर 3.16 करोड रुपए का बिजली बिल बाकी है। राज्य की बिजली कंपनी ने साल 2018 में स्टेडियम के बिजली आपूर्ति काट दी गई थी। पर विशेष रूप से वहां होने वाले कार्यक्रमों के दौरान अस्थाई बिजली कनेक्शन को जारी रखा गया है।

India -Australia 4th T-20: जेनरेटर की लाइट में खेला गया भारत-ऑस्ट्रेलिया T20 मैच, रायपुर स्टेडियम में बिजली संकट
India -Australia 4th T-20: जेनरेटर की लाइट में खेला गया भारत-ऑस्ट्रेलिया T20 मैच, रायपुर स्टेडियम में बिजली संकट

छत्तीसगढ़ राज्य क्रिकेट संघ ने कहा है कि वह स्टेडियम में बाहरी बिजली स्रोतों की भी व्यवस्था करता है। और आयोजन स्थल पर कोई बिजली संकट नहीं है। रायपुर सर्कल के अध्यक्ष अभियंता अशोक खंडेलवाल ने कहा कि स्टेडियम निर्माण समिति के आवेदन पर 2010 में स्टेडियम को बिजली कनेक्शन दिया गया था। 2018 तक स्टेडियम के बिजली बिल का बकाया 3.16 करोड रुपए तक पहुंच गया था, जिसके बाद आपूर्ति काट दी गई थी।

उन्होंने कहा कि बाद में उन्होंने 200 केवीए के अस्थाई कनेक्शन के लिए आवेदन किया था, जो सुरक्षा कर्म को ध्यान में रखते हुए प्रदान किया गया था। क्योंकि लोग वहां मैच देखने आते हैं। उन्होंने कहा कि शुक्रवार के मैच के लिए छत्तीसगढ़ राज्य क्रिकेट संघ ने 1000 केवीए का अस्थाई कनेक्शन मांगा था और इसके लिए 10 लाख रुपए जमा किए गए थे, जिसे मंजूरी दे दी गई।

अधिकारी ने कहा कि, बकाया बिल की वसूली के लिए हमने राज्य के खेल और युवा कल्याण विभाग को नोटिस दिया है। विभाग ने पहले इसके लिए बजटीय प्रावधान की कमी का हवाला दिया था और हाल ही में सभी बिलों का भुगतान करने का आश्वासन दिया है। वही राज्य क्रिकेट संघ के अध्यक्ष जुबिन शाह ने कहा कि स्टेडियम के संबंध में उनके संघ की तरफ से कोई बिजली बिल भुगतान लंबित नहीं है।

जुबिन शाह ने बताया, स्टेडियम संगठन के स्वामित्व में नहीं है क्योंकि यह राज्य के स्वामित्व में है। और खेल और युवा कल्याण विभाग लोक निर्माण विभाग द्वारा प्रबंधित किया जाता है। सरकारी विभाग के पिछले बकाया पर हम कोई टिप्पणी नहीं कर सकते हैं। संगठन के पास स्टेडियम के लिए भुगतान करने के लिए कोई बिजली बिल बकाया नहीं है।

जुबिन शाह ने कहा, हमारे पास स्टेडियम में आवश्यकता से अधिक बिजली स्रोत है और बिजली आपूर्ति का कोई संकट नहीं है। अस्थाई बिजली कनेक्शन के अलावा आवश्यकता के अनुसार हमारे पास अपने स्वयं के बाहरी बिजली स्रोत भी है। उन्होंने कहा कि पहले भी इसी तरह से मैच होते थे। जुबिन शाह ने बताया, स्टेडियम में फ्लड लाइट है जो जनरेटर द्वारा संचालित होती है क्योंकि अगर बिजली चली जाती है तो फ्लड लाइट को फिर से शुरू करने में लगभग आधा घंटा लग जाता है।

पिज्जा बर्गर की तरह खाता है जानवरों का कच्चा मांस 10 साल किया बैडमिंटन खिलाड़ी को डेट, दुल्हन बनने को तैयार तापसी? एक्ट्रेस ने बताया सच प्रेग्नेंट है एक्ट्रेस, चलानी सीखी मशीन गन… ली मिलिट्री ट्रेनिंग, वीडियो देख फैंस के छूटे पसीने 200 जिम के मालिक, दिया 30 करोड़ टैक्स, अभी भी कुछ ऐसा है धोनी का जलवा क 25 की अनन्या ने खरीदा पहला घर, अंदर से है आलीशान, गौरी खान ने किया डिजाइन