देश न्यूज़

दो दिन में ही उतर गया ममता बनर्जी का प्लास्टर, सोशल मीडिया पर लोग बोले- ”चमत्कार”

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस (TMC) सुप्रीमो ममता बनर्जी कोलकाता के SSKM अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर आ चुकी हैं। अस्पताल से निकलने की दौरान व्हील चेयर पर पैर में बैंडेज के साथ बैठी उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। नंदीग्राम में उन पर हमला होने के दावा किया गया था। वे 2 दिन अस्पताल में रहीं। अब उन्हें उनके आवास कालीघाट हाउस में ले जाया गया है। मगर, उनके पैर में प्लास्टर की जगह बैंडेज देख कर सोशल मीडिया में लोग पूछ रहे हैं कि क्या ये हकीकत में एक गंभीर चोट थी, जैसा दावा किया गया था?

Plaster to crape bandage in a day. Ashol Poriborton, Acchhe Din. pic.twitter.com/IVRQngyibh— Ajit Datta (@ajitdatta) March 12, 2021

@go4ashi ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, ‘आम तौर पर उम्र और सामान्य स्वास्थय को देखते हुए 6 हफ़्तों तक रहता है, लेकिन यहाँ महज दो दिन में प्लास्टर से क्रेप बैंडेज हो गया,  ममता बनर्जी को और कितने अच्छे दिन चाहिए ‘ वहीं ‘द फ़्रस्ट्रेटेड इंडियन’ के कंसल्टिंग एडिटर अजीत दत्ता ने कहा कि एक ही दिन में प्लास्टर से बैंडेज हो गया, यही तो ‘असली परिवर्तन है’, अच्छे दिन’ है। एक अन्य ट्विटर यूज़र ने लिखा कि ‘मात्र 2 दिनों में फ्रैक्चर बैंडेज हटवाने के लिए ममता बनर्जी का नाम ‘गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स’ में शामिल हो गया है।  

BREAKING: Mamata Banerjee gets into the book of “Guinness World Records” for removing plaster in such quick time.— Farrago Abdullah (@abdullah_0mar) March 12, 2021

वहीं फैक्ट्स नाम से एक ट्विटर हैंडल ने लिखा है कि, ‘कल प्लास्टर था, आज क्रेप बैंडेज. इसका मतलब समझे दया ? दीदी ही वॉल्वरिन है’। बता दें कि, वॉल्वरिन एक ऐसा कैरेक्टर है जिस पर घावों का असर तो होता है लेकिन ये फ़ौरन ही ठीक होकर सामान्य हो जाता है। वहीं, डॉ लक्ष्मी लावण्या ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ‘अपने उपचार का रहस्य साझा करें ममता बनर्जी, मैं भी अपने मरीजों को बताउंगी।’

Share your healing secrets @MamataOfficial didi, I will tell my patients some of remedies.. https://t.co/qfTcpNG26e— Dr LAKSHMI LAVANYA ALAPATI (@LAKSHMIALAPATI3) March 13, 2021

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की सीएम और तृणमूल कांग्रेस (TMC) सुप्रीमो ममता बनर्जी कोलकाता के SSKM अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर आ चुकी हैं। अस्पताल से निकलने की दौरान व्हील चेयर पर पैर में बैंडेज के साथ बैठी उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। नंदीग्राम में उन पर हमला होने के दावा किया गया था। वे 2 दिन अस्पताल में रहीं। अब उन्हें उनके आवास कालीघाट हाउस में ले जाया गया है। मगर, उनके पैर में प्लास्टर की जगह बैंडेज देख कर सोशल मीडिया में लोग पूछ रहे हैं कि क्या ये हकीकत में एक गंभीर चोट थी, जैसा दावा किया गया था?

Plaster to crape bandage in a day. Ashol Poriborton, Acchhe Din.— Ajit Datta (@ajitdatta)

@go4ashi ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, ‘आम तौर पर उम्र और सामान्य स्वास्थय को देखते हुए 6 हफ़्तों तक रहता है, लेकिन यहाँ महज दो दिन में प्लास्टर से क्रेप बैंडेज हो गया,  ममता बनर्जी को और कितने अच्छे दिन चाहिए ‘ वहीं ‘द फ़्रस्ट्रेटेड इंडियन’ के कंसल्टिंग एडिटर अजीत दत्ता ने कहा कि एक ही दिन में प्लास्टर से बैंडेज हो गया, यही तो ‘असली परिवर्तन है’, अच्छे दिन’ है। एक अन्य ट्विटर यूज़र ने लिखा कि ‘मात्र 2 दिनों में फ्रैक्चर बैंडेज हटवाने के लिए ममता बनर्जी का नाम ‘गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स’ में शामिल हो गया है।  

BREAKING: Mamata Banerjee gets into the book of “Guinness World Records” for removing plaster in such quick time.— Farrago Abdullah (@abdullah_0mar)

वहीं फैक्ट्स नाम से एक ट्विटर हैंडल ने लिखा है कि, ‘कल प्लास्टर था, आज क्रेप बैंडेज. इसका मतलब समझे दया ? दीदी ही वॉल्वरिन है’। बता दें कि, वॉल्वरिन एक ऐसा कैरेक्टर है जिस पर घावों का असर तो होता है लेकिन ये फ़ौरन ही ठीक होकर सामान्य हो जाता है। वहीं, डॉ लक्ष्मी लावण्या ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ‘अपने उपचार का रहस्य साझा करें ममता बनर्जी, मैं भी अपने मरीजों को बताउंगी।’ source : Opera News

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top