देश न्यूज़

Pakistan : इलाके के लोगों को काट रहे थे कुत्ते, सिंध हाई कोर्ट ने दो सांसदों को किया सस्पेंड

सिंध हाई कोर्ट (Sindh High Court) ने अपने आदेश में कहा है कि ये दोनों असेंबली मेंबर्स अपने इलाकों के लोगों को सहूलियतें मुहैया कराने में नाकाम रहे हैं. साथ ही कोर्ट ने अन्य मेंबर्स खासकर खैरपुर, लरकाना और जमशोरो के सांसदों को आगाह करते हुए कहा कि यदि उन्होंने अपने क्षेत्रों में काम नहीं किया तो उन्हें भी सस्पेंड किया जा सकता है. 

इस्लामाबाद : अपने असेंबली क्षेत्र में काम न करने या कई अन्य वजहों से सांसदों को कई बार फटकार लगती है. लेकिन क्या आपने ऐसा मामला सुना है कि इलाके के लोगों को कुत्ता काटने पर सांसदों को सस्पेंड कर दिया गया हो? जी हां, ऐसा मामला पाकिस्तान के सिंध प्रांत में सामने आया है.  

कुत्ता काटने की बढ़ीं घटनाएं, सांसद सस्पेंड

पाकिस्तान के सिंध प्रांत की असेंबली के दो सदस्यों को कोर्ट ने इस वजह से सस्पेंड कर दिया क्योंकि वे अपने क्षेत्रों में कुत्तामार मुहिम की निगरानी ठीक ढंग से नहीं कर रहे थे. असेंबली सदस्यों फरायल तालपुर (Faryal Talpur) और मलिक असद सिकंदर (Malik Asad Sikander) के सस्पेंशन का ऑर्डर सिंध हाई कोर्ट की 2 सदस्यी बेंच ने सुनाया है. बेंच में जस्टिस आफताब अहमद और जस्टिस फहीम सिद्दीकी शामिल थे. 

कोर्ट ने अन्य सांसदों को भी किया आगाह

एक पाकिस्तानी न्यूज वेबसाइट के मुताबिक कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि ये दोनों असेंबली मेंबर्स अपने इलाकों के लोगों को सहूलियतें मुहैया कराने में नाकाम रहे हैं. साथ ही कोर्ट ने अन्य मेंबर्स खासकर खैरपुर, लरकाना और जमशोरो के सांसदों को आगाह करते हुए कहा कि यदि उन्होंने अपने क्षेत्रों में काम नहीं किया तो उन्हें भी सस्पेंड किया जा सकता है. 

‘हमें सब पता है, हमारा मुंह न खुलवाएं’

इससे पहले सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने कहा था कि कुत्तों के काटने की घटना से एमपी का कोई लेना देना नहीं है. इसपर हाई कोर्ट ने कहा कि हमें पता है, हमारा मुंह न खुलवाएं तो बेहतर होगा. लोगों की सुरक्षा करना विधान सभा के सदस्यों की जिम्मेदारी है. हाई कोर्ट ने कहा कि हमें मालूम है कि यह अफसर फंड से किसे कमीशन देते हैं. 

काम न करने पर कटेगी सांसदों की सैलरी

इतना ही नहीं कोर्ट ने यह भी कहा कि कुत्ते के काटने की घटना जिस इलाके में हुई वहां का एमपी सीनेट चुनाव के दौरान भी वोट नहीं डाल सकेगा. साथ ही ऐसी घटना जिस भी इलाके में होगी उससे संबंधित अधिकारी की सैलरी बंद कर दी जाएगी, उन्हें सरप्लस में रखा जाएगा.  Source : Zee News

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top