शेखपुरा

शेखपुरा…पुश्तैनी गाँव मालदह पहुँचने पर डॉ. आशुतोष मानव का हुआ भव्य स्वागत ; ग्रामीणों में हर्ष

शेखपुरा…जीएचपी यूनिवर्सिटी, चेन्नई से डाक्टरेट की मानद उपाधि लेने के बाद पहली बार अपने पैतृक गाँव मालदह पहुँचने पर ग्रामीणों ने हिलसा के समाजसेवी व गुटखा छोड़ो आन्दोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. आशुतोष कुमार मानव का भव्य स्वागत किया। स्थानीय ऐतिहासिक वट- वृक्ष के समीप जैसे ही उनकी गाड़ी पहुँची। ख़ासकर गाँव के बड़े बुज़ुर्गों एवं युवाओं ने श्री मानव को फूल मालाओं से लाद गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। इस दौरान शिवशंकर सिंह, संजय सिंह, शम्भु सिंह आदि के नेतृत्व में आयोजित स्वागत कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए डॉ. मानव ने कहा कि यह सम्मान हमें नहीं बल्कि नालन्दा और शेखपुरा के उन तमाम चाहने वालों को मिला है। जो हमारे संघर्ष के दिनों में सदैव हौसला आफ़जाई करते रहे हैं। जो इंसान मुश्किलों में भी घबराता नहीं हो और नकारात्मक विचारों को कभी भी अपने ऊपर हावी नहीं होने देता उसे जीवन पथ पर आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने ख़ासकर युवाओं से आह्वान किया कि वे ग़लती से भी नशे की चपेट में न पड़ें । वरना हँसता खेलता परिवार बर्बाद हो जाएगा। नशा हर तरह के अपराध की जननी है।

उन्होंने कहा कि यह सम्मान पूरे गाँव वालों को मिला है जिसे बरक़रार रखना हम सबकी जवाबदेही है। मानव – समाज को आज वैसे समर्पित और ईमानदार लोगों की ज़रूरत है ।जो अपना सर्वस्व देश को न्योछावर कर दें। उन्होंने उपस्थित लोगों से कहा कि अभिभावकों को चाहिए कि वे शुरू से ही अपने बच्चों पर विशेष ध्यान दें। आजकल के बच्चों और युवाओं को निष्ठापूर्वक पढ़ाई लिखाई के साथ साथ अच्छे संस्कार भी अपनाने होंगे। तभी देश का भला होगा। इस मौक़े पर समाजसेवी दीपक कुमार ने कहा कि श्री आशुतोष कुमार मानव को सम्मान मिलने से गाँव के युवाओं का उत्साह बढ़ा है. उन्होंने समाज व देश सेवा के क्षेत्र में अधिक से अधिक युवाओं को आगे आने का आह्वान किया। ग़ौरतलब है कि नालंदा ज़िले के हिलसा में जन्मे, पले- बढ़े आशुतोष कुमार मानव द्वारा लगभग तीन दशक पूर्व छेड़ा गया नशा विरोधी अभियान , गुटखा छोड़ो आन्दोलन काफ़ी चर्चित रहा. इनके अभियान से प्रभावित होकर न केवल हज़ारों लोग नशामुक्त जीवन जी रहे हैं बल्कि केंद्र एवं राज्य की सरकारे भी व्यापक जनहित में कड़े क़ानून बनाने को बाध्य हुई आजीवन अविवाहित रहकर ख़ुद को पूरी तरह समाजसेवा के क्षेत्र में समर्पित कर देने वाले श्री मानव को हाल में भारत निर्वाचन आयोग ने नालंदा का ब्राण्ड ऐंबेसडर भी बनाया है एक यूथ आइकॉन के रूप में निरंतर ये युवाओं को जागरुक करने का कार्य कर रहे हैं. विकट परिस्थिति में भी समाज सेवा के क्षेत्र में ईमानदारी पूर्वक डटे रहने की वजह से इन्हें ग्लोबल ह्यूमन पीस यूनिवर्सिटी, चेन्नई ने डाक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया है।

इस अवसर पर समाजसेवी दीपक कुमार, शम्भु सिंह के अलावे शिवशंकर सिंह, संजय सिंह, राज कुमार शशि, शैलेश सिंह, राजेश कुमार, रंज़ीत राम, रामानन्द सिंह, अनुग्रह सिंह, द्वारिका सिंह, राजकुमार सिंह, नवनीत रंजन, अकलु सिंह, शिवालक सिंह, समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।

Source-Facebook

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top