शेखपुरा

शेखपुरा और नवादा के 15 परिवारों सूरत में फंसे के मददगार बने -जितेंद्र नाथ


सूरत शहर के रंगीलानागर में फंसे शेखपुरा जिला के कुंडा-पथरौटा के करीब 6 दर्जन लोगों की मदद को रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष, अभियान समिति जीतेंद्र नाथ आगे आए और उनके खाने की व्यवस्था उनके की निवास स्थान पर कराया।
गौरतलब है कि सूरत शहर के थाना लिमबायत नीलगिरी रंगीलानगर 2 प्लॉट नम्बर 99 में कुंडा पथरेटा के 15 परिवार के करीब 70 लोग और बगल के नवादा जिले के करीब 100 लोग एक ही जगह पर रहते हैं।

सूरत से रालोसपा नेता जीतेंद्र नाथ के व्हाट्सएप पर संजीव कुमार वर्मा का मैसेज मिला। संजीव वर्मा यहां शेखपुरा में इफेक्स फाउंडेशन से जुड़े रह चुके हैं। उन्होंने अपने मेसेज में कहा था,” हम लोग करीब दो सौ बिहारी मजदूर भाई लोग के लिए खाने का सामग्री हेतू मैं आपसे कुछ निवेदन कर रहा हूँ।”

संजीव के मैसेज को पढ़कर जीतेंद्र नाथ ने उनसे तुरंत संपर्क कर हाल पूछा और तत्काल ही सूरत के रहने वाले अपने एक पत्रकार मित्र दिलीप भाई से संपर्क किया और उनसे इन मजदूरों के लिए कुछ प्रयास करने का आग्रह किया।
दिलीप भाई के प्रयास से सूरत में समाजसेवा से जुड़े मध्यप्रदेश के रहने वाले समाजसेवी अजीत तिवारी ने 75 लोगों के खाने का नियमित इंतज़ाम किया। जीतेंद्र नाथ ने बताया कि वे इस पुनीत कार्य के लिए अजीत तिवारी और दिलीप भाई के बहुत आभारी हैं।

नाथ ने यह भी बताया कि दोनों बंधू की मदद से पिछले चार दिनों से दो समय का भोजन 15 परिवारों को मदद पहुंचाया जा रहा है। साथ ही उन्होंने लॉकडाउन की अवधि तक भोजन मुहैया कराने का वादा किया है।

नाथ ने बताया कि कोरोना को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन है, लेकिन बिहार के लाखों लोग बहुत कम संसाधन या कहें बिना भोजन पानी के जीने को अभिशप्त हैं। बिहार और केंद्र सरकार को पूरे देश के मुख्यमंत्रियों के साथ तालमेल बिठाकर अपने अधिकारियों की मदद से अधिक से अधिक कम्युनिटी रसोई चलाए।

भोजन के अभाव में मजदूर अपने घर आने को व्यग्र हो रहे हैं। बिहार सरकार उनलोगों को लाने का भी प्रयास नहीं कर रही है तो कम से कम उनके लिए भोजन का इंतज़ाम करने का प्रयास तो करे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top