शेखपुरा

शेखपुरा से भेजे गये सभी कोरोना वायरस के 14 सैंपल के रिपोर्ट निगेटिव

कोरोना वायरस से पूरा विश्व परेशान है और डरा हुआ है। हर कोई इस महामारी से निजात पाना चाहता है यही वजह है कि सब लोग पूरी सतर्कता और एहतियात बरत रहे हैं। जिला प्रशासन की सतर्कता और चौकसी के साथ आम लोगों की जागरूकता की वजह से शेखपुरा जिला अभी तक कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित है। शेखपुरा के पड़ोसी जिलों नवादा,नालंदा तथा लखीसराय में संक्रमण का मामला सामने आ चुका है।

ऐसी स्थिति में जिला प्रशासन के साथ आम जिलेवासियों की जबाबदेही और भी बढ़ गई है।  आपको बता दें कि जनसंपर्क पदाधिकारी ने बताया पड़ोसी जिलों में संक्रमण का मामला सामने आने के बाद जिला प्रशासन ने अपनी चौकसी को और बढ़ा दिया है। जिला के सभी प्रवेश मार्गों पर चेकपोस्ट बनाकर दिन-रात निगरानी की जा रही है। बाहर से आने वालों की हेल्थ स्क्रीनिग के साथ संदिग्ध लोगों को क्वारंटीन में रखा जा रहा है।

 इसमें से कई संदिग्ध लोगों के सैंपल लेकर उसे जांच के लिए भी भेजा गया है। रविवार तक जिला में कोरोना का एक भी पाजेटिव मामला नहीं आया है। संदिग्ध लोगों के सैंपल लेने की व्यवस्था सदर अस्पताल में है। यहां प्रयाप्त मात्रा में जांच किट्स उपलब्ध हैं। इधर डीपीएम श्याम कुमार निर्मल ने बताया रविवार तक जिला से 14 संदिग्ध लोगों का सैंपल जांच के लिए पटना भेजा गया है और सभी के रिपोर्ट निगेटिव आये हैं।

डीपीएम ने बताया जिला के लिए यह काफी संतोष की बात है कि यहां अभी कोई पाजेटिव मामला नहीं मिला है। इसी स्थिति को बनाने रखने के लिए लोगों को लॉक डाउन का पालन करने तथा संदेह पर अपने स्वास्थ्य की जांच कराने की सलाह दी है। लॉक डाउन में घरों में रहने तथा सोशल डिस्टेन्सिग का पालन करने की अपील लोगों से की है।

दवा दुकानदार नहीं दे रहे सर्दी-खांसी के पीड़ितों की सूची
दवा दूकानदारों पर डीएम के निर्देश का कोई असर नहीं दिख रहा है। डीएम के निर्देश के चार दिन बीत जाने के बाद भी किसी दवा दुकानदार ने सर्दी-खांसी से पीड़ित लोगों की सूची स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध नहीं कराया है। प्राइवेट क्लीनिक चलाने वाले डाक्टरों का भी यही हाल है। कोरोना संक्रमण पर पैनी नजर रखने के लिए डीएम ने सभी दवा दूकानदारों तथा प्राइवेट क्लीनिक चलाने वालों को सर्दी-खांसी वाले मरीजों की सूची स्वास्थ्य विभाग के साथ शेयर करने का निर्देश दिया था। डीपीएम श्याम कुमार निर्मल ने बताया शुक्रवार तक मात्र एक प्राइवेट क्लीनिक ने सर्दी-खांसी से पीड़ित 8 लोगों की सूची उपलब्ध कराया है।

 बाकी के न तो कोई क्लीनिक और न ही किसी दवा दुकानदार ने ऐसी सूची दी है। डीपीएम ने बताया जिला में अभी तक कोरोना का कोई पाजेटिव मरीज नहीं मिला है। जिला में पीपीई तथा मास्क-सेनेटाइजर की कमी नहीं है। स्वास्थ्य विभाग के पास इसकी प्रयाप्त मात्र उपलब्ध है। गांवों में मुखिया तथा कई स्वयं सेवी संगठन अपने स्तर से मास्क व सेनेटाइजर का वितरण कर रहे हैं। जिला में अब तक 11 लोगों के सैंपल जांच के लिए पटना भेजे गए हैं। इसमें 9 के रिपोर्ट निगेटिव आ चुके हैं। दो नए सैंपल की रिपोर्ट अभी नहीं आई है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top