शेखपुरा

12 सौ किलोमीटर की दुरी साइकिल से तय कर लॉकडाउन में 29 मजदूर पहुंचे सरमैदान गांव

रिपोर्टर अजीत कुमार
*प्रदेश में फंसे हुए 44 लोग पहुंचे अपने -अपने गांव*
*सभी को प्रसाशन की निगरानी में किया गया क्वार्ंटीन *
कोरोनावायरस संक्रमण के बीच लॉकडाउन होने की स्थिति में काम काज बंद होने और इस कठिन परिस्थिति में परिवार से दुर होने की पीड़ा को कठिन से कठिन परेशानियां झेल कर हर कोई परिवार के साथ रहना चाहता है। दूसरे प्रदेशों में फंसे मजदूर चाहे परेशानी कितनी भी बड़ी हो घर की दुरी तय करने से नहीं हिचक रहे हैं । ऐसा ही मामला सदर प्रखंड के सरमैदान गांव में बृहस्पतिवार को देखने को मिला । जहां करीब 12 सौ किलोमीटर की दूरी साइकिल से तय कर 29 लोग हरियाणा और उत्तर प्रदेश के आगरा से अपने गांव पहुंचे। इन मजदूरों  के  गांव लौटने पर चेहरे पर जहां  खुशी थी वहीं कोरोना संक्रमण के बीच प्रदेश से गांव लौटने की जानकारी ग्रामीणों को मिलने के बाद परेशानी बढ़ गई । ग्रामीणों ने आनन-फानन में इसकी सूचना प्रशासनिक पदाधिकारियों को दी और इन्हें घर गांव में रहने से रोक लगाते हुए इन्हें क्वॉरटीन किए जाने की मांग की। इसकी सूचना मिलते ही सदर प्रखंड के बीडीओ मंजुल मधुर मनोहर सरमैदान गांव पहुंचकर इसकी जानकारी ली। इस बाबत बीडीओ ने बताया कि इस गांव के सभी मजदूर परिवार के लोग हरियाणा में रहकर मजदूरी करते थे। कोरोनावायरस को लेकर लॉकडाउन में कामकाज बंद होने और आवागमन बाधित होने के कारण सभी मजदूर हरियाणा 23 मजदूर हरियाणा से साइकिल से अपने गांव पहुंचे हैं। जबकि चार अन्य  आगरा से गांव  पहुंचे हैं ।उन्होंने बताया कि इन सभी 29 मजदूरों को क्वॉरटीन कराया गया है। इसके साथ ही इन लोगों पर नजर रखी जा रही है। उधर अरियरी  प्रखंड के महुली क्षेत्र में 15 मजदूर बाहर से अपने गांव पहुंचे हैं ग्रामीणों की सूचना पर अधिकारियों ने स्वास्थ्य विभाग की  टीम को  जांच के लिए भेजा  और इसके बाद इन सभी को क्वॉरटीन करा दिया गया  है ।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top