जीविका परियोजना द्वारा सतत् जीविकोपार्जन योजना से जुड़े परिवार के जीवन में आए बदलाव

शेखपुरा न्यूज़ रविवार को शेखपुरा जिला के 29वें स्थापना दिवस के उद्घाटन समारोह में जीविकोपार्जन योजना से लाभान्वित शेखपुरा सदर प्रखंड की जीविका दीदी सीता देवी एवं बरबीघा प्रखंड की दिव्यांग शैला देवी ने अपने जीवन में आए बदलाव की गाथा प्रस्तुत की । साथ ही बताया कि अत्यंत गरीबी से निकल कर अब महीने के 8 हजार रुपए से अधिक सिलाई सेंटर ,सब्जी उत्पादन और बकरी , गाय पालन करके कमा रही हैं। बिहार सरकार के शिक्षा एवं संसदीय कार्य मंत्री सह जिला के प्रभारी मंत्री विजय कुमार चौधरी ने अपने भाषण में सतत् जीविकोपार्जन योजना से लाभान्वित दीदियों के द्वारा साझा किए गए।

Copy
जीविकोपार्जन योजना से जीवन में आए बदलाव

अनुभव की प्रशंसा की और कहा कि जो महिला कभी दो वक्त की रोटी के लिए तरस रही थी, जो कभी समाज की मुख्य धारा से वंचित थी । अब वही महिला जीविका से जुड़ कर हम सबके बीच मंच पर आ कर माइक लेकर अपने जीवन में आए बदलाव की कहानी सुना रही है, यही बदलते शेखपुराकी कहानी है, यही बदलते बिहार की गाथा है।कार्यक्रम में विभिन्न विभागों एवं योजनाओं की प्रदर्शनी के लिए लगाए गए स्टॉल में जीविका परियोजना द्वारा सतत् जीविकोपार्जन योजना से जुड़े परिवार के जीवन में आए बदलाव को दिखाया गया और ये प्रदर्शित करने की कोशिश की गई कि योजना से जुड़ने से पहले जो परिवार ताड़ी बेचते थे। उनका इस योजना से जोड़कर क्षमता वर्धन किया जा रहा है और छोटे छोटे रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है । जैसे कि किराना दुकान, श्रृंगार स्टोर, फल – सब्जी की दुकान इत्यादि के अलावा लाभार्थी बकरी पालन एवं गौ पालन से अपनी आजीविका चला रही हैं। इसके साथ-साथ जीविका दीदी नीतू देवी ने सोयाबीन से बने पौष्टिक लड्डू की भी प्रदर्शनी की एवं बिक्री की।

Facebook Comments Box