छह दिवसीय मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ

शेखपुरा न्यूज़। जिला कृषि विज्ञान केंद्र अरियरी में आयोजित छह दिवसीय मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण का कार्यक्रम बुधवार को सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण समाप्त होने के बाद सभी मधुमक्खी पालन के इच्छुक किसानों को प्रमाण पत्र के साथ से सम्मान के साथ विदाई दी गई। अब यह सभी उद्यान विभाग के समक्ष ऑनलाइन आवेदन कर मधुमक्खी पालन के संबंध में बक्सा आदि प्राप्त कर सकेंगे ।इस संबंध में जानकारी देते हुए कीट वैज्ञानिक डॉक्टर जावेद इदरीश ने बताया कि प्रशिक्षण को लेकर जिले भर के 39 मधुमक्खी पालकों ने भाग लिया।

मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण

इसमें 2 महिलाएं भी शामिल थी। उन सभी को मधुमक्खी पालन के सभी वैज्ञानिक विधियों को विस्तार से बताया गया। सभी को पहले से इस कार्य में लगे लोगों के स्थल का भ्रमण कराकर प्रायोगिक अनुभव भी प्राप्त करवाने का प्रयास किया गया। प्रशिक्षण के दौरान मधुमक्खी पालकों ने विशेष उत्साह का प्रदर्शन किया ।उन्होंने बताया कि जिला कृषि विज्ञान केंद्र अरियरी द्वारा प्रत्येक साल प्रशिक्षण का कार्य आयोजित किया जाता है। प्रशिक्षण के बाद मधुमक्खी पालन कर जिले में बड़ी संख्या में लोग आर्थिक स्थिति उन्नत करने में लगे हुए हैं। कृषि वैज्ञानिक इन सभी लोगों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं।

Copy
इसे भी पढ़ें..  सेक्स वर्कर के अधिकार विषय पर कार्यशाला आयोजित

प्रशिक्षण में किसानों को बताया गया कि इटालियन प्रभेद की मधुमक्खी पालन से अधिक मात्रा में मधु का उत्पादन किया जा सकता है। इस बाबत केंद्र प्रभारी सह कृषि वैज्ञानिक डॉ विनय कुमार मंडल ने बताया कि दस बक्सा यानि एक यूनिट मधु मक्खी पालन करने से कमसे कम 60 हजार रूपए का सालाना आमदनी किया जा सकता है। प्रमाण पत्र वितरण समारोह में जिला कृषि पदाधिकारी शिवदत्त प्रसाद सिन्हा , सहायक निदेशक उद्यान शैलेंद्र कुमार , सहायक निदेशक पौधा संरक्षण सुजीत पाल सहित अन्य मौजूद थे।

ource:शेखपुरा की हलचल

Facebook Comments Box