Solar India : भारत के पहले पवन-सौर हाइब्रिड पावर प्लांट का शुभारंभ

भारत अक्षय ऊर्जा की ओर स्थिर गति से आगे बढ़ रहा है और कंपनियां भी इस क्षेत्र में निवेश करने और संयंत्र स्थापित करने की इच्छुक हैं। भारत की प्रमुख अक्षय ऊर्जा कंपनी अदानी ग्रीन एनर्जी की सहायक कंपनी अदानी हाइब्रिड एनर्जी जैसलमेर वन लिमिटेड (AHEJOL) ने राजस्थान के जैसलमेर में पवन-सौर हाइब्रिड बिजली उत्पादन संयंत्र शुरू किया है, जो भारत में अपनी तरह का पहला संयंत्र है।

India's first wind-solar hybrid power plant

इस हाइब्रिड पावर प्लांट की क्षमता 390 मेगावाट है। सौर और पवन ऊर्जा उत्पादन द्वारा एकीकृत हाइब्रिड बिजली संयंत्र बिजली उत्पादन के व्यवधानों को हल करके और बढ़ती बिजली की मांग को पूरा करने के लिए विश्वसनीय समाधान प्रदान करके अक्षय ऊर्जा की पूरी क्षमता का उपयोग करते हैं।

Copy

अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के MD और CEO वीनीत एस जैन ने कहा, “विंड-सौर हाइब्रिड एनर्जी हमारी व्यापार रणनीति का एक महत्वपूर्ण पहलू है, जिसका उद्देश्य भारत में हरित ऊर्जा की बढ़ती आवश्यकता को पूरा करना है।” यह भारत के सतत ऊर्जा लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में एक सतत प्रगतिशील कदम साबित होगा।

उन्होंने आगे कहा, “हमें भारत का पहला विंड-सौर हाइब्रिड प्लांट देने के लिए हमारी टीम के अथक प्रयासों पर बेहद गर्व है। यह परियोजना अंतरराष्ट्रीय बैंकों द्वारा अदानी ग्रीन में पहली निर्माण सुविधा का हिस्सा है। यह प्रशंसनीय है कि वैश्विक महामारी से उत्पन्न अनिश्चितताओं के बीच परियोजना को सफलतापूर्वक लागू किया गया।”

Facebook Comments Box