शेखपुरा न्यूज़

चार महीने के चक्‍कर में दूल्‍हा हुआ निराश, शेखपुरा में ऐन मौके पर रुकी शादी, मंडप में लगा पुलिस का पहरा

शादी के लिए मंडप सजाया गया, दुल्हन के घर बारात का इंतजार था। लेकिन दूल्हे और बारात के आने से पहले ही पुलिस लड़की के घर पहुंच गई. जब इसकी खबर मिली तो दूल्हे को अपना मन बदलना पड़ा।

शेखपुरा में ऐन मौके पर रुकी शादी

शेखपुरा : चार माह के चक्र में दूल्हा-दुल्हन दोनों की उम्मीद अधूरी रह गई. दुल्हन हाथ में मेहंदी लगाकर बैठ गई, दूल्हा सात फेरे लेने के लिए सही समय पर पहुंचने को तैयार था। लेकिन उससे पहले ही पुलिस वहां पहुंच गई। उन्होंने चार महीने का हवाला देकर शादी से इनकार कर दिया। पुलिस के लौटने के बाद लड़की के घर पर चौकीदार तैनात कर दिया गया कि कहीं शादी न हो जाए. हालांकि, शादी को लेकर की गई सारी तैयारियां बेकार गईं। ये पूरा मामला शेखपुरा का है.

दुल्हन हाथ में मेहंदी लगाकर बैठ गई, दूल्हा सात फेरे लेने के लिए सही समय पर पहुंचने को तैयार था। लेकिन उससे पहले ही पुलिस वहां पहुंच गई। उन्होंने चार महीने का हवाला देकर शादी से इनकार कर दिया। पुलिस के लौटने के बाद लड़की के घर पर चौकीदार तैनात कर दिया गया कि कहीं शादी न हो जाए. हालांकि, शादी को लेकर की गई सारी तैयारियां बेकार गईं। ये पूरा मामला शेखपुरा का है.

विवाह की निर्धारित आयु में चार माह शेष हैं।

जिला प्रशासन को सूचना मिली कि जिस लड़की की बारात आने वाली है वह अभी नाबालिग है. इसकी सूचना पर पुलिस के साथ बाल संरक्षण इकाई को रवाना किया गया। गांव में छानबीन करने पर पता चला कि जिस लड़की की शादी होनी थी, वह अभी 18 साल की होने से चार महीने दूर है। इसके बाद परिवार वालों को सलाह दी गई कि वे वयस्क होने तक शादी को रोक दें और घर में मंडप था। शादी के लिए भी उखाड़ फेंका। यह शादी न हो इसके लिए वहां एक चौकीदार तैनात किया गया है। हालांकि, लड़की के परिवार वाले अब शादी के चार महीने बीतने का इंतजार कर रहे हैं.

Facebook Comments Box
Leave a Comment