Uncategorized

Jawahar Navodaya Vidyalaya: कौशल मूल रूप से सीखने के अनुभव हैं जो रचनात्मकता और जिज्ञासा को जगाने में मदद कर सकते हैं : एन. के. साह(पूर्व कुलपति)

शेखपुरा।स्थानीय पीएमश्री जवाहर नवोदय विद्यालय में बुधवार को पूर्व कुलपति व प्रख्यात विद्वान प्रो.( डा. ) एन ०के ०साह ने एक्सपर्ट टॉक के बतौर मुख्य वक्ता बच्चों से यह बातें कहा।उन्होंने अपने सहज &मधुर वाणी के माध्यम से जीवन में विज्ञान का महत्व और जीवन कौशल को कहानी के माध्यम से समझाया।

Advertisement
Jawahar Navodaya Vidyalaya: कौशल मूल रूप से सीखने के अनुभव हैं जो रचनात्मकता और जिज्ञासा को जगाने में मदद कर सकते हैं : एन. के. साह(पूर्व कुलपति)
छात्रों को संबोधित करते हुए पूर्व कुलपति

जीवन कौशल मूल रूप से सीखने के अनुभव हैं जो रचनात्मकता और जिज्ञासा को जगाने में मदद कर सकते हैं । पीएमश्री जवाहर नवोदय विद्यालय छात्रों को जीवन कौशल सिखाने के लिए जाना जाता है जो उन्हें स्वतंत्र और साहसी वयस्क बनने में मदद कर सकता है।उन्होंने शिक्षा के प्रति बच्चों को जागरूक कर शिक्षा के महत्व को विस्तार से समझाया। अपने अमेरिका के अध्यापन अनुभवों का भी जिक्र करते हुए छात्र -छात्राओं के दर्जनों उलझन भरे सवालों का जबाब दिया और लाइफ विज्ञान से समन्वय पर जोर दिया।

विद्यालय में सभी छात्र -छात्राओं के बौद्धिक विकास हेतु एक्सपर्ट टॉक के इस आयोजन में प्राचार्य बिनय कुमार ने मुख्य अतिथि डा.साह को बुके और अंगवस्त्र से सम्मानित किए । मंच का संचालन अंग्रेजी शिक्षक अरूण कुमार साह ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन अमित कुमार ने प्रस्तुत किया।इस कार्यक्रम के प्रभारी रंजन कुमार, राम प्रकाश यादव,समीना सिद्दिक्की,कादंबरी,संजय कुमार,विजय शंकर सिंह,माणिक चंद सहित सभी शिक्षक भी उपस्थित रहे।यह जानकारी विद्यालग के मीडिया प्रभारी अरुण कुमार साह ने दी।

कितनी है एक कप चाय की कीमत? एक दिन में इतना पैसा कमाता है Dolly चायवाला? अगर आपको सांप डस ले तो भूलकर भी ना करें ये 6 काम जैकलिन फर्नांडीज ने रेड रिविलिंग ड्रेस में उड़ाए लोगों के होश बिना मेकअप पति संग बच्चों के स्कूल पहुंची ईशा अंबानी, पहना था इतना सस्ता कुर्ता इंटरनेट से पहले बच्चे ऐसे करते थे मौज-मस्ती