शेखपुरा न्यूज़

National Child Protection Scheme : राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना अंतर्गत दिल में छेद का ऑपरेशन के बाद दोनो बच्चे स्वस्थ

शेखपुरा। जिला के अरियरी प्रखंड दाउदपुर इटवा गांव के सोनू यादव की तीन वर्षीय पुत्री संध्या कुमारी एवं चेवाड़ा प्रखंड अंतर्गत पिंड शरीफ गांव के मोहम्मद सिकंदर हयात के 2 वर्षीय पुत्र मोहम्मद शिफान हयात को राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना कार्यक्रम अंतर्गत बच्चों को स्कैनिंग की गई थी। जिसमें बच्चों को हृदय संबंधित बीमारी का लक्षण पाया गया।

National Child Protection Scheme : राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना अंतर्गत दिल में छेद का ऑपरेशन के बाद दोनो बच्चे स्वस्थ
ऑपरेशन के बाद दोनो बच्चे स्वस्थ

डॉ अशोक कुमार सिंह अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि दोनों बच्चे को इलाज के क्रम में डॉक्टर के द्वारा हृदय संबंधित बीमारी की पुष्टि होने के उपरांत मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना अंतर्गत राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार पटना के द्वारा हार्ट सर्जरी हेतु अहमदाबाद 8 अप्रैल को एरोप्लेन के माध्यम से भेजा गया। जहां दोनों का सफल हार्ट सर्जरी किया गया। दोनों वापस अपने-अपने गांव भी चले आए दोनों के अभिभावक ने स्वास्थ्य विभाग के इस पहल को सहना भी किया। बताते चले की सरकार द्वारा जन्म से हृदय में छेद वाले बच्चों के समुचित इलाज के लिए प्रशान्ति मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउण्डेशन अहमदाबाद को चिह्नित किया गया एवं 13 फरवरी, 2021 को इसके साथ सरकार ने एमयू हस्ताक्षरित किया।

जिसमें राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना के तहत संचालित मेडिकल टीम के द्वारा बच्चों को स्कैनिंग की जाती है। दिल से संबंधित रोगी की पुष्टि होने के उपरांत मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना के तहत मुफ्त इलाज सरकार सरकारी खर्च के माध्यम से प्रशान्ति मेडिकल सर्विसेज एण्ड रिसर्च फाउण्डेशन के अहमदाबाद में किया जाता है।जिसका लाभ उठाकर आर्थिक रूप से पिछड़े परिवार के लोग अपने हृदय रोग से पीड़ित 1-18 वर्ष बच्चों का मुफ्त में इलाज कराते है। जो हृदय रोग से पीड़ित बच्चों के लिए जीवनदायिनी योजना के रूप में देखी जा रही है।

Advertisement
कितनी है एक कप चाय की कीमत? एक दिन में इतना पैसा कमाता है Dolly चायवाला? अगर आपको सांप डस ले तो भूलकर भी ना करें ये 6 काम जैकलिन फर्नांडीज ने रेड रिविलिंग ड्रेस में उड़ाए लोगों के होश बिना मेकअप पति संग बच्चों के स्कूल पहुंची ईशा अंबानी, पहना था इतना सस्ता कुर्ता इंटरनेट से पहले बच्चे ऐसे करते थे मौज-मस्ती