शेखपुरा न्यूज़

Postal department: जिले में किसानों और व्यवसाईयों को डाक विभाग से जोड़ने के लिए विशेष अभियान

शेखपुरा।भारत सरकार के निर्देशों के आलोक में डाक विभाग ने जिले में किसानों और व्यवसाईयों को डाक विभाग से जोड़ने के लिए विशेष अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत जिले के सभी डाकघर द्वारा किसानों के डाक बैंक खाता खोले जा रहे हैं इसके अलावा व्यापारियों के लिए खाता खुलवाकर उनके व्यापार को सुगम बनाने के लिए यूपीआई भुगतान वाली बार कोड का भी वितरण किया जा रहा है

Postal department: जिले में किसानों और व्यवसाईयों को डाक विभाग से जोड़ने के लिए विशेष अभियान
डाक विभाग से जोड़ने को चला अभियान

इस संबंध में जानकारी देते हुए सहायक डाक अधीक्षक केशव लाल ने बताया कि इस अभियान के तहत पिछले 15 दिनों में पूरे जिले में 850 किसानों के डाक खाता खोल दिया गया है इस कार्य में डाक विभाग के साथ-साथ कृषि और स्वास्थ्य विभाग का भी सहयोग प्राप्त हो रहा है उन्होंने बताया कि जिले के सभी 96 डाकघर में कोई भी इच्छुक व्यक्ति अपना खाता खुलवा सकता है इसके अलावा अभी जिले में भ्रमण कर रहे विकसित भारत संकल्प यात्रा में भी लोगों के पोस्ट ऑफिस में बैंक खाता खोले जा रहे है I बैंक खाता के लिए लोगों को केवल आधार कार्ड ही उपलब्ध कराना है डाक बैंक में खाता खुलवाने वाले किसानों के सभी प्रकार के सरकारी लाभ की राशि इसमें सुविधाजनक तरीके से प्राप्त की जा सकती है I

प्रधानमंत्री किसान निधि मातृत्व वंदना योजना सहित अन्य सरकारी योजना के लाभ लेने वाले को इस योजना से जोड़ने पर विशेष बल दिया जा रहा है व्यवसाईयों के संबंध में खातों में बार कोड सुविधा दिए जाने को लेकर उन्होंने बताया कि 18 साल के कोई भी व्यापार करने वाले लोग बैंक में खाता खुलवा सकते हैं या पहले से खुला खाता पर बार कोड प्राप्त कर सकते हैं इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के द्वारा रिक्शा ठेला लगाने वाले के साथ-साथ मूंगफली और सब्जी बेचने वाले व्यापारी तक भी इसका लाभ ले सकते हैं इससे व्यापारियों को अपने व्यवसाय को ऊंचाई पर ले जाने में डिजिटल सेवा से काफी लाभ प्राप्त होगा

कितनी है एक कप चाय की कीमत? एक दिन में इतना पैसा कमाता है Dolly चायवाला? अगर आपको सांप डस ले तो भूलकर भी ना करें ये 6 काम जैकलिन फर्नांडीज ने रेड रिविलिंग ड्रेस में उड़ाए लोगों के होश बिना मेकअप पति संग बच्चों के स्कूल पहुंची ईशा अंबानी, पहना था इतना सस्ता कुर्ता इंटरनेट से पहले बच्चे ऐसे करते थे मौज-मस्ती