शेखपुरा न्यूज़

Block transportation plan: मुख्यमंत्री प्रखंड परिवहन योजना की जानकारी आम लोंगों तक पहुँचाने के उद्देश्य से प्रचार रथ को हरी झंडी किया रवाना

शेखपुरा। मुख्यमंत्री प्रखंड परिवहन योजना की जानकारी आम लोंगों तक पहुँचाने के उद्देश्य से गुरुवार को मुख्यमंत्री प्रखंड परिवहन प्रचार रथ को अपर समाहर्त्ता सियाराम सिंह एवं जिला परिवहन पदाधिकारी आलोक राय द्वारा संयुक्त रुप से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा इस अवसर पर बताया गया कि प्रचार रथ सदर प्रखंड को छोड़कर सभी प्रखंडों में जाकर मुख्यमंत्री प्रखंड परिवहन योजना का जानकारी दिया जाएगा।

Block transportation plan: मुख्यमंत्री प्रखंड परिवहन योजना की जानकारी आम लोंगों तक पहुँचाने के उद्देश्य से प्रचार रथ को हरी झंडी किया रवाना
परिवहन प्रचार रथ को हरी झंडी किया रवाना

जिले के पाँच प्रखंडों में 35 लोगों को परिवहन विभाग से जुड़कर स्वरोजगार का अवसर दिया जाना है। वैसे सभी इच्छुक व्यक्ति जो परिवहन विभाग से जुड़कर स्वरोजगार करना चाहते हैं, उनके लिए मुख्यमंत्री प्रखंड परिवहन योजना के तहत बस वाहन खरीदने पर 05 लाख रुपये अनुदान के रुप में उपलब्ध कराया जाएगा । इस योजना का लाभ लेने लिए इच्छुक आवेदक जरुरी कागजातों के साथ 27 दिसंबर तक परिवहन विभाग के वेवसाईट पर आवेदन कर सकते हैं। अबतक इस योजना का लाभ लेने के लिए कुल 10 आवेदन प्राप्त हुआ है।

इस संबंध में विस्तृत जानकारी जिला परिवहन कार्यालय में कार्यालय अवधि में प्राप्त कर सकते हैं। योजना से जुड़ने के लिए जरुरी अर्हता:- आवेदक संबंधित प्रखंड का निवासी हो, जिनकी न्यूनतम आयु 18 वर्ष हो तथा उनके पास डाइविंग लाइसेंस का होना अनिवार्य है। सरकारी सेवा में कार्यरत व्यक्ति इस योजना का लाभ नही ले सकते हैं। आवेदक चाहें तो इस योजना का लाभ लेने के लिए सयुक्त रूप से भी आवेदन कर सकतें है। इस योजना के तहत अनुसूचित जाति/जनजाति एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग के 02-02, पिछड़ा वर्ग के 01, सामान्य वर्ग से-01 एवं अल्पसंख्यक वर्ग से 01 लाभुकों को लाभ प्रदान किया जायेगा।

कितनी है एक कप चाय की कीमत? एक दिन में इतना पैसा कमाता है Dolly चायवाला? अगर आपको सांप डस ले तो भूलकर भी ना करें ये 6 काम जैकलिन फर्नांडीज ने रेड रिविलिंग ड्रेस में उड़ाए लोगों के होश बिना मेकअप पति संग बच्चों के स्कूल पहुंची ईशा अंबानी, पहना था इतना सस्ता कुर्ता इंटरनेट से पहले बच्चे ऐसे करते थे मौज-मस्ती