शेखपुरा

शेखपुरा : घर में ही घाट बनाकर अर्घ्य देने की अपील घाट पर नहीं जा पाएंगे 60 वर्ष के बुजुर्ग

नहाय -खाय के साथ लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ पर्व बुधवार से शुरू हो गया। बड़े ही स्वच्छता के साथ कद्दू -भात का प्रसाद ग्रहण कर यह महापर्व शुरू हो गया। छठ पर्व के दूसरे दिन गुरूवार को छठव्रती दिन भर बिना जलग्रहण किए उपवास में रहकर सूर्यास्त होने पर खरना करेंगी। तत्पश्चात लोहंडा का प्रसाद ग्रहण करेंगी। इसके साथ ही परिवार के लोगों के साथ ही इष्ट मित्र भी प्रसाद ग्रहण करेंगे। बुधवार की सुबह छठव्रतियों ने स्नान आदि कर अरवा चावल, चना दाल और कद्दू की सब्जी बनाकर परिवारों के एवं सगे संबंधियों के साथ प्रसाद के रूप में ग्रहण किया।

इसके साथ ही आज से छठ व्रतियों का निर्जला उपवास प्रारंभ हो गया है। गुरुवार को खरना होगा जबकि कल शुक्रवार को डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जायेगा एवं शनिवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही छठ का समापन हो जायेगा। छठव्रतियों के द्वारा खरना के प्रसाद के लिए गेहूं धोकर सुखाने व पिसाई में जुटे हैं। इस बार 60 वर्ष से ऊपर के लोगों को घाट जाने की मनाही है।

भक्ति गीतों से गुंजायमान हैं गलियां
गांव हो या शहर की गलियां सभी जगह छठ का गीत गूंज रहा है। चारों ओर सारा वातवरण भक्तिमय बना हुआ है। हर ओर स्वच्छता के साथ छठ पर्व को संपन्न कराने में छठ व्रतियों की सुविधा और सहयोग के मद्देनजर छठ घाटों को व्यवस्थित करने में लोग स्वयं स्वेच्छा से अपना योगदान देने में जुटे हैं।

छठ सामग्री खरीदारी को बाजारों में उमड़ी भीड़

छठ पर्व पर फल को चढ़ाने की परंपरा को देखते हुए भारी मांग के मद्देनजर पूरा बाजार फलों से पटा पड़ा है। दर्जनों नए दुकान लगाए गए हैं। कहीं थोक तो कहीं खुदरा फलों की बिक्री हो रही है। फल का दाम न बढ़ जाए इसका ध्यान में रखकर अभी से ही लोगों ने फल की खरीदारी शुरु कर दी है। इस बार फलों के दर में विशेष उछाल नहीं आया है। हालांकि इस बार इन सामानों की कीमत पिछले साल की तुलना में काफी ज्यादा है। शहर में बहुतायत मात्रा में केला, सेव, नारंगी, नारियल, संतरा की दुकानें सज गई हैं। छठ पूजा की सामग्रियों में पूजन सामग्री की खरीद किए जाने के साथ ही प्रसाद बनाने के लिए अन्य सामानों की भी खरीद की गई। इस मौके पर लोगों ने मिट्टी के बर्तन, सूप, पीतल के सूप, ईख, नारियल, केला, सेब, संतरा, मूली, अदरक आदि की जमकर खरीदारी हुई।

नहीं आने वालों ने घरवालों को किया वीडियो कॉल

शहर के चांदनी चौक, कटरा चौक, सब्जी मंडी, दल्लु चौक, गिरिहिंडा चौक, बुधौली बाजार जैसे सभी प्रमुख बाजारों में छठ पूजा के सामानों की खरीददारी के लिए दिन भर भीड़ लगी रही। चार दिवसीय छठ व्रत को लेकर लोगों में काफी उत्साह दिख रहा है। पारंपरिक गीतों से पूरा शहर भक्तिमय हो चुका है। शहर के विभिन्न कार्यालयों में कार्यरत कर्मीं छठ पर्व को मनाने के लिये गांवों की तरफ भी लोग अपना रुख करने लगे है। भारी संख्या में लोग गांवों में जाकर अपने पैतृक आवास पर छठ पूजा करते हंै। कोरोना काल के कारण इस वर्ष बाहर रहने वाले कई लोगअपने पैतृक घर नहीं पहुंच सके हैं। जिस कारण वे काफी दुखी हैं। इस बार कई लोग वीडियो कॉल और वीडियो चैट कर अपने घर के लोगों से बातचीत कर रहे हैं। इस दौरान घर के लोगों के चेहरे पर भी उदासीनता देखी जा रही है। सभी लोग मायूस हैं।

खरीदारी के लिए बाजार में जगह-जगह लगा जाम

पर्व शुरू होने के साथ गुरूवार को बाजारों में ग्राहकों की काफी भीड़ दिखी। कटरा चौक, चांदनी चौक, दल्लु चौक, गिरिहिंडा चौक, बुधौली बाजार समेत गांव के चौक-चौराहों पर भी पर्व में काम आने वाली जरूरी वस्तुओं से पट गया। बावजूद इसके फल, सूप, छिट्टा की कीमत में कोई कमी नजर नहीं आयी। अचानक दुकान व ग्राहकों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि के कारण शहर की सड़कों पर जगह-जगह दिनभर जाम का नजारा देखने को मिला। महज, पांच मिनट की दूरी तय करने में बाइक, रिक्शा, चार चक्का वाहन को घंटों लग रहा था, तो पैदल वाले फजीहत झेलते हुए जैसे तैसे गंतव्य की ओर बढ़ते रहे। source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top