देश न्यूज़

आरएसएस की ओर से निकाला जाने वाला होली का टोला देश में है सबसे अनोखा, यहां बरसते हैं देशभक्ति के रंग Aligarh news

आरएसएस की ओर से होली का टोला 40 साल से निकाला जाता है। इसमें संघ के कार्यकर्ता द्वारिकापुरी स्थित संघ कार्यालय केशव भवन पहुंचते हैं। यहां कार्यालय में एक साथ बैठक होती है। सुबह 10 बजे संघ की प्रार्थना के बाद स्वयंसेवक बाजार में होली खेलने निकल पड़ते हैं।

अलीगढ़, जेएनएन : होली पर आप सभी ने फिल्मी और देसी गीतों पर लोगों को खूब झूमते देखा होगा, मगर देशभक्ति के गीतों पर शायद नहीं। मगर, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता होली पर देशभक्ति गीतों पर झूमते हैं। होली से एक दिन पहले निकाला जाने वाला होली का टोला के समय देशभक्ति के खूब गीत गूंजते हैं। फिर तो स्वयंसेवकों का जोश देखते ही बनता है। अबीर-गुलाल से सराबोर स्वयंसेवक भारत माता-वंदेमातरम के जयघोष लगाते हुए चलते हैं। इसमें जनप्रतिनिधि भी शामिल होते हैं। आरएसएस की ओर से होली का टोला 40 साल से निकाला जाता है।

इसमें संघ के कार्यकर्ता द्वारिकापुरी स्थित संघ कार्यालय केशव भवन पहुंचते हैं। यहां कार्यालय में एक साथ बैठक होती है। सुबह 10 बजे संघ की प्रार्थना के बाद स्वयंसेवक बाजार में होली खेलने के लिए निकल पड़ते हैं। संघ के देशभक्ति के गीत गाते हुए स्वयंसेवक थिरकना शुरू कर देते हैं। ये देश है वीर जवानों का अलबेलों का मस्तानों का, देश है पुकारता, पुकारती है भारती, ज्योति जला निज प्राण की बाती गढ़ निज बलिदान की आदि गीत शुरू होते हैं। फिर तो स्वयंसेवकों का जोश देखते ही बनता है। झूमते नाचते हुए चलते हैं। द्वारिकापुरी से आगरा रोड, घंटे वाले, बड़ा बाजार, फूल चौक होते हुए बारहद्वारी की तरफ बढ़ जाते हैं। रास्ते में स्वयंसेवकों के परिवार के सदस्य टोला पर खूब रंग बरसाते हैं। देशभक्ति के साथ समरसता का भी खूब रंग बरसता है। भारत माता-वंदेमातरम के जयघोष से सभी देशभक्ति से सरोबार हो जाते हैं। फिर, एक स्थान पर सभी का जलपान होता है।

आरएसएस के विभाग सह संघचालक ललित कुमार का कहना है कि होला का टोला समरसता का भाव पैदा करता है। इसमें समाज के प्रत्येक वर्ग की हिस्सेदारी होती है। वह उत्साह में भारत माता-वंदेमातरम का जयघोष लगाते हैं। सभी का भाव एक रहता है कि राष्ट्र देशभक्ति के रंग में रंगा रहे। आरएसएस के महानगर प्रचार प्रमुख भूपेंद्र शर्मा का कहना है कि त्योहारों के माध्यम से देशभक्ति से जोडऩे का काम सिर्फ संघ करता है। यह अनोखा कार्यक्रम है, जहां होली पर देशभक्ति के गीत गूंजते हैं और सब जमकर नृत्य करते हैं। हम सभी के लिए देश से बड़ा कुछ नहीं, इसलिए ऐसा कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। Source : Jagran

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top