शेखपुरा

वार्ड स्दस्य बनी प्रशिक्षण से सीखा अधिकार अब लोगों की मदद के लिये आ रही हैं आगे

रिपोर्टर अजीत कुमार
वरूणा की वार्ड सदस्य अंशु देवी बन रही हैं प्रेरणा 
घर की चारदीवारी में कैद महिलाएं जब वार्ड सदस्य के रूप में पंचायत की प्रतिनिधि बनी तो उन्हें सरकार के द्वारा संचालित योजनाओं और जनता को मिलने वाले लाभ के बारे कोई जानकारी नहीं थी। लेकिन जब हुआ एक प्रशिक्षण कार्यक्रम से जुड़ी तो वे अपने हक और अधिकार को जानने लगी। सेंटर फॉर कैटलाइजिंग चेंज और राघो सेवा संस्थान के माध्यम से चल रहे चैंपियन परियोजना से महिलाओं प्रतिनिधियों ने जब जानकारी हासिल की तो अपने हक और जनता को अधिकार  दिलाने में आगे आने लगी। इसकी एक बानगी वरुणा पंचायत के  वार्ड नंबर 10 की वार्ड सदस्य उदाहरण बनी हुई हैं । अंशु देवी आज अपने समाज के बाकी महिलाओं के लिए प्रेरणा बनी है आज कोरोना के संकट में अंशु जी अपने क्षेत्र के ग्रामीणों से यह अपील कर रही है कि वे अपने घरों में रहे और देश को इस संकट से बचाने में मदद करें अंशु जी ने इससे पहले भी स्वास्थ्य और पोषण के मुद्दे पर काम किया है उन्होंने अपने स्वास्थ्य उपकेंद्र पर  ानटाइड फंड के माध्यम से सारी सुविधाओं की उपलब्धता करवाई जैसे जांच में बीपी मशीन, वजन मशीन, कुर्सी ,दरी  इत्यादि इतना ही नहीं उन्होंने आंगनबाड़ी में भी सुविधाओं का लाभ दिलवाने में ग्रामीणों की मदद की जैसे अन्नप्राशन, गोद भराई जैसे कार्यक्रम पहले इनके यहां के आंगनबाड़ी पर नहीं होते थे पर अब इनके कोशिशों के बाद होने लगा है ।इसके साथ में गर्भवती महिलाओं का अब ग्रामीण स्वस्थ्य एवं पोषण दिवस पर सभी तरह की जाँच करवाती हैं ।  गर्भवती महिलाओं और बच्चों को आंगनबाड़ी पर वितरित होने वाले राशन को खुद खड़ी होकर बंटबाती हैं। इतना ही नहीं यह जब  मशरूम की खेती सीखकर पटना से आई है खुद खेती कर और भी महिलाओं को प्रेरित कर रही हैं।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top