शेखपुरा

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा विभिन्न मांगों को लेकर दिया गया धरना प्रदर्शन

आज दिनांक 15 जून 2020 को स्थानीय रामाधीन महाविद्यालय के परिसर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद शेखपुरा के द्वारा राज्यव्यापी प्रदर्शन के तहत बिहार के छात्र विरोधी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया।

विगत 30 दिनों से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा STET के परीक्षा रद्द करने व LOCKDOWN के अवधि में छात्रों के रूम रेंट व शिक्षण शुल्क माफ नहीं करने तथा स्थानीय शैक्षणिक मुद्दों को लेकर शेखपुरा इकाई द्वारा प्रदर्शन किया गय

कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे अभाविप शेखपुरा के नेता रोहित कुमार ने कहा कि विगत 15 सालों से बिहार की शिक्षा व्यवस्था ICU में चला गया, न ही प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयो में संसाधन है और न ही शिक्षक है। उसके बाद भी STET 2020 की परीक्षा को बिना रिजल्ट के रद्द कर दिया गया।

जबकि छात्र संघ अध्यक्ष सृष्टि सृजन ने कहा कि जब तक बिहार की शिक्षा व्यवस्था को व्यवस्थित नही किया जाएगा तब तक अभाविप बिहार के नेतृत्व में लगातार रचनात्मक आंदोलन जारी रखा जाएगा।

वहीं नगर मंत्री आकाश कश्यप ने कहा कि गैर-जिम्मेदाराना, दोषपूर्ण कार्यशैली, संवेदनहीन व छात्रविरोधी सरकार को आम छात्रों के समस्याओं के निवारण का कार्य सरकार को करना ही होगा। कोविद-19 के दरम्यान उत्पन्न शैक्षणिक अराजकता को दूर करने के लिए त्वरित करवाई करने हेतु राज्यस्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया जाए। बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में स्थायी कुलपति की नियुक्ति जल्द से जल्द किया जाए।

इन सभी मांगो को लेकर विद्यार्थी परिषद द्वारा लगातार सरकार के समक्ष सोशल मीडिया, पत्रों और आन्दोलन के माध्यमो से कुम्भकर्णी नींद में सोए सरकार को जगाने का प्रयास कर रही है परंतु बिहार की NDA सरकार की आंखे अभी भी बंद ही है। यदि सरकार ABVP के मांगो को नही मानते है तो ABVP द्वारा पूरे बिहार में सशक्त छात्र आंदोलन के माध्यम से इस सरकार को बदलने का प्रयास किया जाएगा।

आंदोलन में इंद्र दमन कुमार,पंकज गुप्ता,गुड्डू कुमार, अश्विनी गुप्ता, शिवम कुमार,गौतम कुमार, प्रिंस कुमार, रंजन कुमार, चंदन कुमार, बिट्टू कुमार, सहित दर्जनों विद्यार्थी उपस्थित थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top