शेखपुरा

जिला अधकारी ने गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों के बीच निःशुल्क मास्क का वितरण करने का आदेश

डीएम इनायत खान ने जिले के नागरिकों से अपील की है कि कोरोना वायरस के बढ़ते संख्या के बावजूद भी न घबराना और न डरना है। कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन के द्वारा प्रतिदिन कारगर कदम उठाये जा रहा है।

लेकिन कुछ लोगों के असावधानी और लापरवाही के कारण कोविड-19 का संक्रमण लगातार हो रहा है। उन्होंने डी॰पी॰आर॰ओ को बताया कि फेस मास्क के उपयोग से कोविड-19 संक्रमण को 90 प्रतिशत तक रोका जा सकता है। पिछले 05 दिनों से मास्क के उपयोगिता के लिए रोक-टोको अभियान चलाया जा रहा है। दण्डाधिकारियों को निदेशित किया गया है कि गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों के बीच निःशुल्क मास्क का वितरण करना सुनिश्चित करें। ऐसा न हो कि रूपये के आभाव में कोई व्यक्ति मास्क खरीद नहीं पायें। जिला में पर्याप्त संख्या में मास्क उपलब्ध है।इसके कारण अधिकांश व्यक्ति मास्क पहना प्रारंभ कर दिये है।

डीएम ने बताया कि कुछ नागरिकों के असावधानी के कारण ही पुनः लाॅक डाउन लगाया जा रहा है। यदि सभी नागरिक मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंस का अनुपालन और समय-समय पर साबुन से हाथ धोना/सैनेटाइजर का उपयोग कर, इसके संक्रमण से बचा जा सकता है। उन्होंने बताया कि यदि सभी लोग सावधान और सजग रहेंगे तो 31 जुलाई 2020 के बाद लाॅकडाउन हटाया जा सकता है। इससे बचने के लिए बिहार सरकार के दिये गये निदेशों का पूर्णरूप से पालन करना जरूरी है। मास्क के महत्व के बारे में आम लोगों को बताने के लिए चयनित 30 स्थलों पर दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जब तक सभी व्यकित मास्क पहनना प्रारंभ नहीं करेंगे तबतक रोको-टोको का विशेष अभियान चलता रहेंगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top