बिज़नेस

शेखपुरा : दिवाली ख़रीदारी धनतेरस को लेकर बाजारों में हुई जमकर खरीददारी

शेखपुरा / बरबीघा.. धनतेरस को लेकर बृहस्पतिवार को बाजारों में खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी।लोगो ने जमकर खरीदारी की। धनतेरस के अवसर पर सोने-चाँदी जैसे महत्वपूर्ण द्रव बस्तुुुओ की खरीदारी को शुभ माना जाता है। इस अवसर पर लोग लक्ष्मी और गणेश की प्रतिमा की भी खरीदारी करते हैं। जिसकी पूजा दीपावली में की जाती है। धनतेरस की खरीदारी को लेकर बाजरो में तील रखने का स्थान भी नहीं मिल रहा था. धनतेरस को लेकर बाजारों में बड़ी संख्या में अस्थायी दुकान भी सजाई गयी हैं। बड़ी संख्या में बर्तन और खिलौने के दुकान फुटपाथ पर भी लगाये गए हैं।

वैसे तो दुकाने सवेरे से ही सजधज कर तैयार थी. लेकिन दोपहर बाद खरीदारों की संख्या बढती चली गयी. जिसमे महिला भी बड़ी संख्या में शामिल थी। खरीदारी का यह दौड़ देर शाम तक जारी रहा। बजारे पूरी तरह गुलजार रहे। धनतेरस के सम्बन्ध में आचार्य निरंजन कुमार पाण्डेय ने बताया कि धनतेरस कार्तिक माह के प्रथम पक्ष के तृतीय तिथि को आयोजित की जाती है। इस साल यह तिथि दो दिनो में विभक्त है।बृहस्पतिवार के को अपराहन के चार बजे से शुक्रवार के अपराहन छ बजे तक तृतीया है। हालाकि तृतीया का प्रवेश प्रदोष काल में हो रहा है. इसलिए यह दोनों दिन शुभ है।

धनतेरस का आयोजन दोनों दिन किया जाना अनुचित नहीं माना जायेगा। उन्होंने बताया कि धनतेरस धन धान्य के अलावा आरोग्य उत्सव भी है।

धनतेरस का आयोजन आदि वैद्य धन्वन्तरी के जयंती के रूप में भी मनाया जाता है. पौराणिक मान्यता के अनुसार समुद्र मंथन के बाद धनतेरस के दिन ही धन्वन्तरी अमृत कलश लेकर समुद्र से प्रकट हुए थे. आचार्य से इस त्यौहार को श्रद्धा के साथ मानाने की अपील की है। नियमपूर्वक पूजा और अनुष्ठान से सुख शांति के अलावा धन धान्य और आरोग्य की प्राप्ति होती है।

Source- Facebook

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top